फिर ‘एक्शन’ में फिल्म बिरादरी

पिछले कई दिनों से लोगों के दिलों-दिमाग पर निराशा छाई हुई थी, लेकिन अब लगता है धीरे-धीरे मूड बदल रहा है। एक्टर्स ने शूटिंग शुरू कर दी है और अपनी नई फिल्मों के प्रमोशन की योजनाएं बनाने लगे हैं। और पहली अच्छी खबर यह आई है कि ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ (डीडीएलजे) की 25वीं वर्षगांठ के मौके पर लंदन के लीसेस्टर स्क्वेअर पर शाहरुख और काजोल की प्रतिमा स्थापित की जाएगी। इससे पहले यशराज फिल्म्स ने अपना ‘गोल्डन जुबली लोगो’ भी रिलीज किया था।

डीडीएलजे भारत की अब तक की सबसे लोकप्रिय मूवी रही है। साल 1995 में केवल 4 करोड़ रुपए में बनाई इस फिल्म ने भारत में 89 करोड़ रुपए तो विदेशों में 13.50 करोड़ रुपए की कमाई की थी, यानी कुल मिलाकर 102.50 करोड़ रुपए। अगर इसमें आज की मुद्रास्फीति को एडजस्ट कर लें तो आज के हिसाब से कुल कमाई 524 करोड़ रुपए हो जाती है।

डायरेक्टर रोहित शेट्टी के साथ हर सुपरस्टार काम करने के लिए लालायित रहता है, क्योंकि उनके साथ फिल्म करने का मतलब है फिल्म के ब्लॉकबस्टर होने की गारंटी। खबर है कि शेट्टी अपनी नई फिल्म ‘सर्कस’ पर जल्दी ही काम शुरू करने की योजना बना रहे हैं। इसमें हीरो रणवीर सिंह होंगे। ‘सिम्बा’ और जल्दी ही रिलीज होने वाली ‘सूर्यवंशी’ के बाद ‘सर्कस’ इस जोड़ी की तीसरी फिल्म होगी। ‘सर्कस’ की शूटिंग अगले महीने से शुरू हो जाएगी। यह फिल्म मुंबई, ऊटी और गोवा में शूट की जाएगी।

कलाकारों का फिर से अपने-अपने काम में गंभीरता के साथ जुट जाना अच्छा लग रहा है। युवा संगीतकार और गायक अमाल मलिक अपने पॉप डेब्यू की तैयारी कर रहे हैं। यही काम एक्टर बोमन ईरानी ने किया। वे केवल शानदार एक्टर ही नहीं, जानदार गायक भी हैं। उन्होंने कुछ प्रतिभाशाली लड़कियों को साथ लेकर ‘ओवर द रेनबो’ गीत गाया। इसे मूल रूप से सालों पहले एक्ट्रेस जूडी गारलैंड ने ‘द विजार्ड ऑफ ओज़’ मूवी में गाया था।

बोमन बताते हैं, ‘मैंने सोशल मीडिया पर इन लड़कियों को गाते हुए सुना और उनकी प्रतिभा से बहुत प्रभावित हुआ। मैं उनके साथ गाना चाहता था तो मैंने उनसे संपर्क किया। इस बीच मैंने अपने आकांक्षा फाउंडेशन के उभरते हुए कलाकारों को अपनी कुछ पेंटिंग्स भेजने को कहा, ताकि हम उन तस्वीरों के साथ इस क्लासिक गीत को दर्शा सके। और नतीजा क्या चमत्कारी था। कई बार श्रेष्ठ चीजें बगैर योजना बनाए भी हो जाती हैं।’

और कई बार साधारण फैसले भी हंगामा मचा देते हैं, जैसा कि हाल ही में अक्षय कुमार की आने वाली फिल्म ‘लक्ष्मी बम’ के ट्रेलर को लेकर हुआ। फिल्म के अभिनेता और निर्देशक दोनों को ट्विटर पर ट्रोलिंग का सामना करना पड़ा। इसको लेकर मचे घमासान पर निर्देशक राघव लॉरेंस ने फिल्म की पृष्ठभूमि के बारे में बताते हुए कहा, ‘लोग फिल्म के मूल टाइटल ‘कंचन’ को बदलकर ‘लक्ष्मी बम’ करने पर आपत्ति उठा रहे हैं।

मूल तमिल फिल्म का टाइटल उसकी मुख्य पात्र ‘कंचन’ पर रखा गया था। लेकिन हमें लगा कि हिंदी दर्शकों के लिए ‘लक्ष्मी’ नाम अधिक उचित रहेगा। चूंकि फिल्म दिवाली के समय रिलीज हो रही थी तो हमने इसके साथ ‘बम’ भी जोड़ दिया। जिसने भी मूल फिल्म देखी होगी, वह जानता है कि इसके जरिए बहुत ही शक्तिशाली सामाजिक संदेश दिया गया है।

यह मूवी एक सच्ची कथा से प्रेरित है। मैं गरीबों के लिए एक ट्रस्ट चलाता हूं। एक दिन मेरे पास मदद मांगने कुछ किन्नर आ गए। बातचीत के दौरान उन्होंने मुझसे अपनी ज़िंदगी की कई बातें साझा कीं। उनकी कहानी से मुझे उन पर एक फिल्म बनाने की प्रेरणा मिली। जब दक्षिण भारत में यह फिल्म रिलीज हुई तो किन्नर समुदाय मेरे घर आया और मुझे आशीर्वाद दिया। इसलिए मेरी सभी से प्रार्थना है कि फिल्म देखने से पहले इसके बारे में कोई अटकलबाजी न लगाएं।’

(लेखिका जानी-मानी फिल्म समीक्षक और इतिहासकार हैं।)



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Talking Point With Bhawana Somaaya, film fraternity in 'Action' Again


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3juCNTo
https://ift.tt/3os2gkc

Comments