केंद्रीय एजेंसियों की जांच को बताया उनके खिलाफ विच हंट, सुशांत की बहनों को लेकर कहा- एक्टर को उनके इरादों पर शक था

16 दिन से भायखला जेल में बंद रिया चक्रवर्ती ने जमानत के लिए बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका लगाई है। इसमें उन्होंने लिखा है कि कस्टडी आगे बढ़ने से उनकी मानसिक हालत और बिगड़ सकती है। बेल एप्लिकेशन उनके वकील सतीश मानशिंदे ने फाइल की है। उन्होंने लिखा है कि उनकी मुवक्किल निर्दोष है और एनसीबी जानबूझकर उनके ऊपर कड़े आरोप लगा रही है। उन्होंने केंद्रीय एजेंसियों (एनसीबी, सीबीआई और ईडी) की जांच को रिया के खिलाफ विच हंट बताया है।

सुशांत को बताया इकलौता ड्रग्स कंज्यूमर

रिया चक्रवर्ती की याचिका में लिखा गया है कि सुशांत सिंह राजपूत इकलौते ड्रग्स कंज्यूमर थे। वे अपने स्टाफ मेंबर्स सैमुअल मिरांडा और दीपेश सावंत को ड्रग्स खरीदने के लिए कहते थे। रिया ने यह दावा भी किया है कि सैमुअल और दीपेश के अलावा सुशांत ने उनका और उनके भाई शोविक का इस्तेमाल भी ड्रग्स खरीदने के लिए किया था।

सुशांत को बहनों के इरादे पर शक था?

रिया ने जमानत याचिका में दावा भी किया है कि सुशांत को उनकी बहनों के इरादे पर शक था। उन्होंने लिखा है कि सुशांत को लगता था कि उनकी बहनों को उनकी मेंटल हेल्थ की चिंता नहीं थी, बल्कि वे उनके पैसों के पीछे पड़ी थीं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, रिया ने जमानत याचिका में लिखा है- सुशांत सतत रूप से अपने परिवार के संपर्क में थे और उन्हें अपने डिप्रेशन के बारे में बता रहे थे। लेकिन अभिनेता के फैमिली मेंबर्स को इसकी चिंता नहीं थी। नवंबर 2019 में उनकी तीन बहनें मुंबई आईं और उन्हें बताया कि वे उन्हें इलाज के लिए चंडीगढ़ ले जा रही हैं।

रिया ने उनके इस फैसले में दखल नहीं दिया। बल्कि उन्हें राहत थी कि कम से कम उनके फैमिली मेंबर्स ने उनकी हेल्थ में रुचि तो जताई। हालांकि, 26 नवंबर को सुशांत ने रिया को फोन किया और कहा कि वे

चंडीगढ़ नहीं जाएंगे। क्योंकि उन्हें उनकी बहनों के इरादे पर शक है और उन्हें लग रहा था कि उनकी बहनें उनके पैसों के पीछे पड़ी थीं।

मानशिंदे के मुताबिक, सुशांत की बहनों की वजह से उनका डिप्रेशन पीक पर पहुंच गया था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
रिया चक्रवर्ती ने याचिका में दावा किया है कि सुशांत लगातार अपने फैमिली मेंबर्स के संपर्क में थे और उन्हें अपने डिप्रेशन के बारे में बता रहे थे।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3kFCBBN
https://ift.tt/3i0n4ux

Comments