हाईकोर्ट से कहा- रिया ड्रग सिंडिकेट की एक्टिव मेंबर थीं, उन्होंने ड्रग्स की तस्करी को आसान बनाया, पेमेंट की सुविधा मुहैया कराई

रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शोविक चक्रवर्ती की जमानत याचिका पर आज बॉम्बे हाई कोर्ट में सुनवाई है। इससे पहले नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने याचिका के खिलाफ एफिडेविट फाइल किया है। अपने एफिडेविट में एनसीबी ने लिखा है कि रिया और शोविक ड्रग्स सिंडिकेट के एक्टिव मेंबर्स थे और वे हाईप्रोफाइल ड्रग्स पैडलर के संपर्क में थे।

ड्रग तस्करी को फाइनेंस कर रही थीं रिया

एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने हाईकोर्ट में दो एफिडेविट फाइल करते हुए कहा है, "वॉट्सऐप चैट, मोबाइल, लैपटॉप, हार्ड डिस्क से रिट्राइव किया रिकॉर्ड जैसे इलेक्ट्रॉनिक एविडेंस इस बात का संकेत देते हैं कि ड्रग्स के लिए पेमेंट किया गया था। इस तरह यह साबित करने के लिए पुख्ता सबूत हैं कि रिया न सिर्फ सतत रूप से डील कर रही थीं, बल्कि ड्रग्स की अवैध तस्करी को फाइनेंस भी कर रही थीं। "

सुशांत के लिए ड्रग्स खरीदा, घर में छुपाया

एफिडेविट में लिखा गया है कि रिया ने सुशांत सिंह राजपूत के लिए ड्रग्स की खरीद-फरोख्त की और उसे अपने घर में छुपाया। एनसीबी के मुताबिक, इस बात के पर्याप्त सबूत हैं कि रिया ड्रग की तस्करी में शामिल थीं। याचिकाकर्ता (रिया) ने ड्रग डिलीवरी को आसान बनाया और इसके भुगतान के लिए क्रेडिट कार्ड/कैश जैसे गेटवे की सुविधा उपलब्ध कराई थी।

8 सितंबर को हुई थी रिया की गिरफ्तारी

रिया चक्रवर्ती को एनसीबी ने 8 सितंबर को ड्रग्स की खरीद-फरोख्त के आरोप में गिरफ्तार किया था। तब से वे मुंबई की भायखला जेल में बंद हैं। इस दौरान मजिस्ट्रेट और सेशन कोर्ट से उनकी जमानत याचिका खारिज हो चुकी है। पहले उन्हें 22 सितंबर तक के लिए कस्टडी में भेजा गया था, जिसे बाद में बढ़ाकर 6 अक्टूबर कर दिया गया।

4 सितंबर को रिया के भाई शोविक चक्रवर्ती और सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा को एनसीबी ने अरेस्ट किया था। शोविक ने अपने बयान में यह माना था कि वे अपनी बहन के इशारे पर ड्रग्स की खरीद-फरोख्त कर रहे थे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
8 सितंबर को रिया चक्रवर्ती को ड्रग्स की खरीद-फरोख्त के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/30jcKI9
https://ift.tt/2G9dLeL

Comments