सुशांत सिंह राजपूत को जहर देकर नहीं मारा गया, कूपर हॉस्पिटल के डॉक्टर्स को पूरी तरह क्लीन चिट नहीं

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में एम्स की टीम ने जांच रिपोर्ट सीबीआई को सौंप दी है। रिपोर्ट्स की मानें तो बचे हुए 20 फीसदी विसरा की जांच करने के बाद एम्स की टीम इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि सुशांत को जहर नहीं दिया गया था। विसरा में किसी तरह का जहर नहीं पाया गया है।

कूपर हॉस्पिटल के डॉक्टर्स को क्लीन चिट नहीं

एम्स की रिपोर्ट में सुशांत सिंह राजपूत का पोस्टमॉर्टम करने वाले कूपर हॉस्पिटल के डॉक्टर्स को पूरी तरह क्लीन चिट नहीं दी गई है। इसमें लिखा गया है कि कूपर हॉस्पिटल की रिपोर्ट को विस्तार से देखने को जरूरत है।
साथ यह इशारा भी किया गया है कि सुशांत के मामले में अस्पताल की ओर से लापरवाही की गई है। कूपर हॉस्पिटल ने सुशांत की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मौत का समय नहीं डाला था। इसे लेकर भी एम्स की टीम ने सवाल उठाया है।

जहर देने की थ्योरी पर विराम

एम्स की रिपोर्ट आने के बाद उस थ्योरी पर विराम लग गया है, जिसमें सुशांत को जहर या बेहोशी की दवा देने का दावा किया जा रहा था। रिपोर्ट्स से यह स्पष्ट हो गया है कि उन्हें जहर देकर नहीं मारा गया। उनकी मौत के मामले में इस नजरिए से कोई फाउल प्ले नहीं है।

सीबीआई हर एंगल से कर रही जांच

सोमवार को सीबीआई ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच में किसी भी एंगल को छोड़ा नहीं जा रहा है। इसकी हर पहलू से जांच की जा रही है। अब सीबीआई सुशांत की बहन मीतू, प्रियंका सिंह और जीजा ओपी सिंह भी पूछताछ कर सकती है। मीतू और प्रियंका से पहले भी सवाल-जवाब हो चुके हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को मुंबई स्थित अपने घर में मृत पाए गए थे।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3jfbfC5
https://ift.tt/2S4NMaO

Comments